50 Unknown Facts About Odisha in Hindi | ओड़ीसा के बारे में 50 रोचक तथ्य।

Published by Pintu on

आज हम इस लेख में जानेंगे कुछ facts  जो कि भारत की ऐसे राज्य के बारे में है जिसको गांध मीडिया तभी कभर करती है जब वहां पर बाढ़ आ जाती है या फिर कोई प्राकृतिक विपदा आती है। लेकिन दूसरी तरफ इस राज्य की इतिहास को गौर से देखा जाए तो आपको एक पुरानी और उन्नत सभ्यता देखने को मिलेगा। यह लेख में हम जानेंगे कुछ Amazing facts About odisha in Hindi. 

प्राकृतिक पदार्थ में भरा हुआ है ओड़ीसा । यहां आपको प्राकृतिक सौंदर्य चारों तरफ देखने को मिलेगा। ओडिशा दर्शनीय स्थानों में पूरी तरह भरपूर है यहां आपको मंदिर मस्जिद भरपूर मात्रा में देखने को मिलेगा । ओडिशा के राजधानी भुवनेश्वर को क्यों कहते हैं मंदिरों का शहर आज हम जानेंगे यहां Amazing facts about Odisha in Hindi .

अपने आप में बहुत महान है ओडिशा…  सुभाष चंद्र बोस का जन्म स्थान है ओडिशा । आज भारत का अभिमान कहा जाने वाला राज्य ओडिशा के बारे में कुछ रोचक तथ्य जानेंगे। 

Besic facts about Odisha in hindi

• ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर है।

• इस राज्य में 30 जिले हैं ।

• वर्तमान के सी.एम. श्री नवीन पटनायक है। 

• ओडिशा की Official language – Odia  है। इसके अलावा    इस राज्य में बहुत सारी भाषाएं बोली जाति  है। उनमें से एक है संबलपुरी ।

• इस राज्य का पॉपुलेशन – 2011 के अनुसार 41947358 है।

• भारत में पॉपुलेशन के आधार पर इस राज्य का Rank  11 नंबर पर आता है । आयतन के हिसाब से 8th Rank.

• ओडिशा की साक्षरता 72.9 per cent  है ।

•   Assembly में ओडिशा की 147 सीटें है। लोकसभा की 21 सीटें और राज्यसभा की 10 सीटें हैं।

•  1 अप्रैल 1936 में ओड़ीसा को बनाया गया था । 

Official symbol of Odisha

• Tree –                   Sacred fig( पीपल का पेड़)
• Flower-               अशोका (saraco asoca)
• Animals-            साम्भर हिरण     
• Birds –                 नीलकंठ पक्षी (Indian roller)
• Food –                   पखाल
• Sweet –                रसगुल्ला
• Song –                  वंदे उत्कल जननी 

Historical facts About odisha 

•  ओडिशा का पुरातन नाम था कलिंग, बाद में  उड़ीसा नाम से जाना  गया । 2011 में उड़ीसा से ओडिशा (Orrisa to Odisha) में बदल दिया गया ।

• ओडिशा भारत का पहला ऐसा राज्य जो भाषा के आधार पर बनाया गया था ।

• 1 अप्रैल को उत्कल दिवस मनाया जाता है । यह ओड़ीसा का राज्य दिवस है।

• पहले ओडिशा का राजधानी था कटक ,वर्तमान भुवनेश्वर है इस राज्य का राजधानी।

• Year 1948 से पहले कटक ओडिशा का राजधानी था। बाद में भुवनेश्वर मे स्विफ्ट कर  दिया गया।

Geographical Facts About odisha 

• ओडिशा चार राज्य को अपने बॉर्डर शेयर करता है। झारखंड, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और छत्तीसगढ़ ।

• ओडिशा के टोटल एरिया  1,55,707 km² ।

• ओडिशा में चार प्रमुख नदियां बहती है उनमें से महानदी सबसे बड़ी है और ब्रह्माणी, बइतरीण, इंद्रावती आदि है। इसके अलावा बूढ़ाबंगला , रुषीकूॡ , वंशधारा, नागावली, आदि नदिया है।

चिलिका Lake  भारत का सबसे बड़ा पूर्व तटीय समुंद्र तट है। यह  विश्व की दूसरी सबसे बड़ी अर्धखारी अनूपझील (second largest coastal lagoon) है । इसकी लंबाई 64 किलोमीटर और ओसार 20 किलोमीटर तक है। चिलिका लेक के बारे में पूरी जानकारी नीचे दिए गए लिंक में मिलेगी।

• चिलिका लेक की दो आइलैंड है पहला parikud और दूसरा malkud इसके अलावा और छोटी-छोटी आइलैंड है।

चिलिका झील के बारे में अधिक जानकारी

• क्षेत्रफल के अनुसार मयूरभंज ओडिशा का सबसे बड़ा डिस्टिक है।

• 2011 की जनसंख्या के हिसाब से गंजाम ओडिशा का बड़ा डिस्टिक है।

• ओडिशा की उच्चतम पर्वत श्रंखला में से देओमाली आगे आता है इसकी उच्चता 1672m है । 

Odisha के  Dam

नदी                          बांध

  • महानदी                     हीराकुंड
  • माचकुंड                       जलपुत
  • इंद्रावती                     इंद्रावती
  • शंख                       मंदिरा
  • Jonk                     Ratara
  • ब्रह्माणी             रेगांली (rengali)

Click here:भारत के बारे में रोचक तथ्य

Click Here:- गुजरात के बारे में रोचक तथ्य

Facts About Odisha

ओडिशा के कुछ अनोखे तथ्य: facts About Odisha in Hindi. 

1. हीराकुंड डैम भारत का सबसे लंबा मानव निर्मित डैम है जिसके लंबाई 56 किलोमीटर तक है।

2. इस हीराकुंड डैम को सन 1956 में बनाया गया था।

3. हीराकुंड डैम दुनिया का सबसे लंबा डैम है।

4. यह राज्य में प्राकृतिक पदार्थ भरपूर है। हिटलर ने द्वितीय विश्वयुद्ध के समय ओडिशा को कब्जा करने के लिए सोचा था। उनका यह मानना था कि राज्य में इतना प्राकृतिक पदार्थ है जिससे किसी भी समय किसी भी जंग(War) आसानी से जीता जा सकता है।

5. ओडिशा में 62 समुदाय के लोग रहते हैं, हर समुदाय कि अपनी अपनी पहचान और संस्कृति है। यह संस्कृति से भरा राज्य है।

6. ओड़ीसा की क्लासिकल डांस ओडीसी डांस है । यह दुनिया भर में फेमस है। इस डांस की मुद्राएं काफी आकर्षित होती है इस कारण से ओडीसी नृत्य भारत में ही नहीं पूरी दुनिया में फेमस है। इसे सीखने के लिए अलग अलग राज्य और दुनिया से लोग आते हैं।

7. ओड़ीसा की राजधानी भुवनेश्वर को मंदिरों का शहर कहा जाता है।

8. यहां 200 से भी अधिक मंदिर पाया जाता है। इसीलिए भुवनेश्वर मंदिरों का गढ़ है।

9. लिंगराज मंदिर भुवनेश्वर में है। यह भगवान शिव का पुराना मंदिर माना जाता है। शिवरात्रि के दिन यहां बहुत भीड़ जमा होती है। यहां का राम मंदिर भी बहुत प्रसिद्ध है इसीलिए भुवनेश्वर को सिटी ऑफ टेंपल कहां जाता है।

10. भुवनेश्वर के अलावा ओड़ीसा के डेंकानाल डिस्ट्रिक्ट में अवस्थित भगवान शिव जी की प्रसिद्ध कपिलाष मंदिर है ।

11. घटगांव में मा तारिणी की टेंपल भी बहुत महत्व रखता है ओडिशा के लिए।

12. धौलीगिरी में जैन मूर्तियां लोगों की आकर्षण का केंद्र है।

13. ओडिशा की कोणार्क टेंपल टूरिस्ट के आकर्षण का केंद्र है। कोणार्क में सूर्य का पहला किरण टेंपल के अंदर आती है।

Konark Sun Temple

14. कोणार्क टेंपल को नरसिंह महादेव ने बनवाया था। कहा जाता है कि इस टेंपल को बनाने के लिए 1200 कारीगर 12 वर्ष लग गया था। विशु महाराणा यहां का मुख्य कारीगर था।

Click here:- कोणार्क सूर्य मंदिर के बारे में पूरी जानकारी

15. रथ यात्रा ओड़ीसा का सबसे पुराना उत्सव है। इसमें भगवान जगरनाथ भाई बलभद्र और देवी सुभद्रा को रथ में बिठा के अपनी मौसी के घर छोड़ा जाता है। यह रथयात्रा गुंदीचा यात्रा के नाम पर भी प्रसिद्ध है।

16. पुरी जगरनाथ धाम भारत की चार धामों में से एक है । एक हिंदू अपने जीवन काल में एक बार यहां जरूर आना चाहता है ।

17. पुरी जगरनाथ की जो रसोईघर है वह दुनिया का सबसे बड़ा रसोईघर कहा जाता है।

18. यहां 250 चुला और खाना बनाने के लिए 600 cook हैं जो रोज खाना बनाते हैं।

19. पुरी जगन्नाथ टेंपल की रसोईघर पूरी दुनिया में फेमस है यहां 56 किसम के व्यंजन रोज बनते हैं।

20. ओड़ीसा के बरगढ़ डिस्टिक में दुनिया का सबसे बड़ा और फेमस ओपन एयर थिएटर है। यहां धनु यात्रा का आयोजन किया जाता है जो भगवान कृष्ण और कंस मामा की कहानियां दर्शाई जाती है। नाटक के रूप में यह कहानियां दर्शाई जाती है । इस यात्रा को 8 किलोमीटर एरिया में आयोजित किया जाता है। इस धनु यात्रा पूरे भारत में फेमस है इसलिए इससे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में भी मान्यता दिया गया है ।

21. ओडिशा में सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी B.J.D (Biju Janata Dala) है जोकि विशिष्ट व्यक्ति बीजू पटनायक के नाम पर है ।

22. ओडिशा में सन 2000 से B.J.D की शासन रही है। अभी उड़ीसा के मुख्यमंत्री श्री नवीन पटनायक जी है। 

23. ओडिशा के मयूरभंज जिला चाइल्ड लेबर से पूरी तरह मुक्त है। इस जिला में कोई भी बच्चों से काम नहीं करा सकता।

24. दुनिया  की सबसे बड़ी हनुमान जी की मूर्ति ओड़ीसा  में स्थित है। 108 फीट की यह मूर्ति दुनिया की सबसे बड़ी हनुमान जी की मूर्ति है जोकि पांपोश   में है और यह स्थान हनुमान वाटिका नाम पर जाना जाता है।

25. भारत का भी नहीं एशिया का सबसे बड़ा गांव ओडिशा में स्थित है जिसका नाम है भुवन यह ढेंकानाल जिले में स्थित है।

26. उड़ीसा के संबलपुरी साड़ियां पूरे भारत में प्रसिद्ध है। यह संबलपुरी साड़ियां काफी रंग-बिरंगे के होते हैं इसकी खास बात यह है कि इस साड़ी को हाथ से बुना जाता है।

27. कलिंग सम्राट अशोक के द्वारा पत्थर को काटकर बनाया गया उदयगिरि और खंडगिरि गुफाएं ओडिशा के भुवनेश्वर में स्थित है। उदयगिरि और खंडगिरि इन दो पहाड़ों की गुफा को मिलाकर यह 33 गुफाएं मौजूद है। यहां की हाथीगुंफा शिलालेख द्वारा भारत की ऐतिहासिक जानकारी मिलती है।

28. जिस तरह भारत में एक कश्मीर है उस तरह ओडिशा में भी एक कश्मीर है । दरिंगबाड़ी को ओड़ीसा के कश्मीर कहते हैं यह एक खूबसूरत हिल स्टेशन है जो कंधमाल डिस्टिक में स्थित है। यहां की खूबसूरती कश्मीर की खूबसूरती से तोला जाता है।

29. ओड़ीसा के संबलपुर जिले में आयोजित शीतल षष्ठी  पूजा काफी फेमस है । भगवान शिव और पार्वती की विवाह को एक त्योहार के रूप में मनाया जाता है। इस त्यौहार तथा उत्सव मेें हजार हजार लोग शामिल होने आतेे हैं।

30. ओड़ीसा के पश्चिमी इलाके अर्थात पश्चिम ओड़ीसा में एक सार्वजनिक त्योहर मनाया जाता है जिसका नाम है नुआखई । इस त्यौहार में लोग प्रथम फसल से उगी अनाज को भोग के रूप में भगवान को अर्पण करके बाद अपने परिवार जनों के साथ नई चावल से बनाया भोग का सेवन करतेे हैं। पश्चिम ओडिशा में मनाया जाने वाला यह त्योहर काफी धूमधाम से किया जाता है ।

31. ओड़ीसा में और भी बहुत सारे त्यौहार है जो लड़कियों के द्वारा धूमधाम से मनाया जाता है जैसे कि जिउता, उषा, दोल पुर्णिमा आदि लोकप्रिय है।

32. बोरीगुमा ओड़ीसा का सबसे बड़ा Block है.

FAQ

ओड़ीसा का पुराना नाम क्या है?

ओड़ीसा का पुरातन नाम कलिंग था फिर आगे जाकर उत्कल नाम से जाना गया। उत्कल के बाद इसका नाम रखा गया ओड़ीसा(Orrisa). 2011 मैं फिर सिंह का नाम बदलकर ओड़ीसा(Odisha) रखा गया.

ओड़ीसा की राजधानी को क्यों मंदिरों का शहर कहा जाता है?

ओड़ीसा का राजधानी भुवनेश्वर है। यहां 200 से भी अधिक मंदिर स्थित है। यहां की फेमस मंदिर लिंगराज मंदिर है। 200 से अधिक मंदिर होने के कारण ओड़ीसा के राजधानी भुवनेश्वर को मंदिरों का शहर कहा जाता है।

ओडिशा क्यों प्रसिद्ध है?

ओड़ीसा एक खूबसूरत राज्य है। पुरी की जगन्नाथ मंदिर और कोणार्क सूर्य मंदिर पूरी दुनिया में फेमस है। ओड़ीसा में बहुत सारे आकर्षित दर्शनीय स्थल, समुद्री तटों और खूबसूरत मंदिरों के लिए भी फेमस है.

अंतिम शब्द

यह था ओडिशा के बारे में कुछ अजब-गजब तथ्य ।  आशा करता हूं आपको इस लेख मे कुछ जानकारी मिली होगी। यदि आपको इस जानकारी पसंद आया और ओडिशा के बारे में और कुछ रोचक तथ्य के बारे में जानते हैं तो कमेंट करके जरूर बताइए ।


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *