भारत के 5 खतरनाक मिसाइल | Top 5 most Powerful Missile in India

Published by Dakshya on

दुनिया में देश देश के बीच अपनी ताकत दिखाने के लिए एक दूसरे से कंपटीशन कर रहे हैं। इन शक्ति बढ़ाने के लिए देश की सैनिको बलों के साथ-साथ हत्यारों का बहुत बड़ा महत्वपूर्ण योगदान है. दुनिया के प्राय सारे देश अपने देश की सुरक्षा और अन्य देशों से अपनी शक्ति को अधिक बढ़ाने के लिए बहुत सारे हत्यारों और मिसाइलों का प्रदर्शन करते हैं।

शत्रु से सुरक्षित रहने के लिए शस्त्र जरूरी है. भारत भी अपनी सुरक्षा के साथ, शत्रु देशों से शक्तिशाली होने के लिए सैन्य शक्ति के साथ साथ हत्यारों और मिसाइलों की शक्ति मजबूत कर रही है। इसीलिए आज यह आर्टिकल में Top 5 most Powerful Missile in India बारे में जानने वाले हैं।

भारत के पांच घातक मिसाइल – Top 5 most Powerful Missile in India.

देखिए यह लिस्ट कोई ऑफिशियल जारी नहीं की गई है, हमारे द्वारा बनाई गई टॉप फाइव लिस्ट है. इसमें एक बात ध्यान रखिए मिसाइल को कुछ जरूरत के हिसाब से बनाई जाती है इसका मतलब एक नंबर में रही मिसाइल  पांच नंबर में रही मिसाइल से ज्यादा अच्छा है ऐसा नहीं है यह अपने आप  में बेहतर है। यह केवल हमारे द्वारा दी गई एक लिस्ट है।

No.1  :-  ब्रह्मोस मिसाइल { Brahmos Missile }

भारत और रूस मिलकर बनाई गई है ब्रह्मोस मिसाइल आज दुनिया का सबसे तेज सुपर सोनीक घातक  मिसाइल है.  ब्रह्मोस मिसाइल वर्टिकल या सीधे किसी भी तरह से दागा जा सकता है। यह मिसाइल हवा में ही अपनी दिशा बदल सकती है और चलते फिरते टारगेट को भी भेद सकती है। यह दुनिया की सबसे तेज चलने वाली मिसाइल है।

ब्रह्मोस  10 मीटर से भी नीचे उड़ान भर सकती है इससे दुश्मन की रडार में आने की संभावना ना के बराबर है।  ब्रह्मोस मिसाइल 1.0209 किलोमीटर / सेकंड  की गति से अपने लक्ष्य को भेद ने जाती है.

भारत में यह मिसाइल को नवंबर 2006 में सेवा में लाया गया था. थल सेना, वायु सेना, जल सेना सभी क्षेत्र में यह उपयोगी है.

No. 2 :- पृथ्वी मिसाइल {Prithvi missile}

पृथ्वी मिसाइल की मारक क्षमता 150 किलोमीटर है. यह एक बैलेस्टिक मिसाइल है जो भारत के वायुसेना, नौ सेना, थल सेना तीनों क्षेत्र में इस्तेमाल किए जाते हैं । पृथ्वी मिसाइल का अलग-अलग फर्जंद है अलग-अलग क्षेत्र के लिए जैसे कि-


पृथ्वी1 :- इस मिसाइल की रेंज 150 किलोमीटर तक है यह खास करके थल सेना के लिए बनाई गई घातक मिसाइल है। इसे जमीन से दागा जाता है यह अपने साथ हजार किलो भारत ले जाने की क्षमता रखता है।

पृथ्वी2  :-  यह मिसाइल खास करके वायु सेना के लिए बनाई गई है। इसकी रेंज 250 किलोमीटर तक है और यह अपने साथ 500 किलो बारूद ले जा सकती है। इसे फाइबर प्लेन से लॉक्स की तरफ छोड़ा जाता है.

पृथ्वी 3 :- यह मिसाइल नौसेना के लिए बनाई गई है. इसकी मारक क्षमता 350 किलोमीटर तक है। इसे किसी भी लड़ाकू जहाज से दागा जा सकता है।

No.3 :- धनुष मिसाइल {Dhanush missile}

धनुष मिसाइल परमाणु हत्यारों को ले जाने की क्षमता रखता है। यह स्वदेशी तकनीक से बनाई गई नौसैनिक संस्करण है। यह Surface-to-surface or Ship-to-ship पृथ्वी 3 मिसाइल की एक प्रकार है. यह 1000 किलोग्राम लोड के साथ मिसाइल में पारंपरिक और परमाणु हत्यारों को ले जाने की क्षमता होती है.

No. 4 :- अग्नि मिसाइल {Agni Missile}

अग्नि मिसाइल परमाणु सक्षम मिसाइल है यह सतह से सतह पर मार कर सकती है . इसकी मारक क्षमता 700 से 5000 किलोमीटर तक है। इसकी कई वर्जन है जो अपने आप में काफी बेहतर है।
अग्नि 1 ;- इसकी मारक क्षमता 700 किलोमीटर तक है। इस मिसाइल को 1989 चांदीपुर में परीक्षण किया गया था. 1000 किलोग्राम पेलोड ले जाने में सक्षम है।

अग्नि 2 ;- यह मीडियम रेंज वाली बैलेस्टिक मिसाइल है। इसमें परमाणु हथियारों से लैस 1 टन पेलोड ले जाने में सक्षम है।

अग्नि 3 ;- इसकी मारक क्षमता 3500 किलोमीटर से 5000 किलोमीटर तक है। ओड़ीसा के बालासोर में इस मिसाइल को परीक्षण किया गया था। इसकी साइज बहुत बड़ा है लगभग 1 सेकंड में 5 किलोमीटर तक तय करने में सक्षम है।

इसके अलावा आदि कई वर्जन स्थित है।

No. 5 :- सागारिका मिसाइल {Sagarika Missile}

सागारिका मिसाइल परमाणु हथियारों से लैस समर इन प्लांट बैलेस्टिक मिसाइल है. इसे अलग से भी लांच किया जा सकता है जिसके लिए अलग से एक लांचर विकसित किया गया है. इसकी मारक क्षमता 1000 KM से 1900 KM  तक है। यह अपने साथ 1000 Kg पेलोड ले जाने की क्षमता रखता है.

अंतिम शब्द

एक ही दोस्तों भारत की पांच सबसे खतरनाक मिसाइल जो किसी भी दुश्मन देश को जंग में परास्त कर सकती हैं। आशा करता हूं आपको यह आर्टिकल पसंद आई होगी, कृपया अपने दोस्तों को Shere करना ना भूलिए. हमारे आने बाली पोस्ट क को ऐसे ही प्यार देते रहिए.


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.