A Wise king Story-एक बुद्धिमान राजा | Raja Rani Kahaniya in Hindi

Published by Dakshya on


आज हम the swise king story in hindi में जानेंगे की हमेशा झूठ कितना भी बड़ा हो जाए  सत्य के आगे हर समय अपना मस्तक झुकाएगी।   A wise king story मैं कैसे राजा अपनी बुद्धि के बल से झूूठ को हराकर सत्या को जीता ती है। यह एक इंग्लिश स्टोरी जिससे  बच्चों के लिए हिंदी में लिखी गई है । हमारे तरफ सेे बच्चों को समझाने के लिए यह कोशिश की गई है।

 एक बुद्धिमान राजा

A Wise king- एक बुद्धिमान राजा.

एक बार एक राजा था उनके नाम-विक्रम। वह काफी बुद्धिमान था।एक दिन राजा के पास दो महिला आए एक का  नाम था सीता और दूसरे के नाम लक्ष्मी। वह दो बहने थे। उनके पास एक बच्चा था। वह दोनों बच्चे के लिए लड़ रहे थे।


“दया कर के ए बच्चा मुझे परवरिश करने दो”  सीता ने राजा को कहा “मैं हूं उसकी मां।” , “नहीं नहीं मैं हूं उसकी मां”  लक्ष्मी ने झट से कहा “दया करके ए बच्चा मुझे दे दो।”

राजा ने कुछ पल सोचा। उसके बाद वह अपने मंत्री से बोले “तलवार निकालो” ।
मंत्री ने तलवार निकाला ।
राजा महिलाओं से पूछे “यह बच्चा किसका है” ।

सीता ने कहा “वह मेरा बच्चा है”।
लक्ष्मी ने कहा “वह मेरा बच्चा है ” ।

राजा ने कहा मंत्री से “बच्चे को दो हिस्सों में काट दो ।  एक हिस्सा सीता को दे दो और दूसरा हिस्सा लक्ष्मी को ।”यह सुनकर सीता अचानक रोने लगी और बोली “दया करके बच्चे को मत मारिए आप लक्ष्मी को दे दो। लेकिन उसे जीने दो।”

राजा ने कहा “सीता को बच्चे दे दो, वह है उसकी असली मां”

राजा की आंखें लाल हो गई थी, वह समझ गए थे, लक्ष्मी के तरफ देखकर “तुम बहुत बड़ी झूठी हो और इस झूठ का सजा जरूर मिलेगा।”

सीता ने कहा “महाराज आप मेरी बहन को सजा मत दीजिए उसे छोड़ दीजिए।” राजा उसे छोड़ दिए। महिलाएं खुशी से चले गए।

Categories: Stories

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.